आलस कैसे दूर करें – How To Overcome Laziness in Hindi

आलस कैसे दूर करें सबके दिल में यह विचार जरूर से आता होगा। क्योंकि हर किसी के अंदर आलसीपना तो होता ही है। उसी आलस (सुस्ती) को दूर करने का एक प्रयास है आलस कैसे दूर करें।

• आलस क्या है

आज के समय आलस मतलब है कि जो हमारे लक्ष्य से जुड़ी हुई चीजें हैं उसे हम कम करते हैं और बाकी चीजों में ज्यादा ध्यान देते हैं। या फिर और कोई काम जो हम खुद नहीं करते हैं वह दूसरों से करवाते हैं यह भी आलस ही है

• आलस कैसे दूर करें

हम सब को फिल्म देखना अच्छा लगता है। मैंने सही कहा ना? हर किसी का अलग-अलग चॉइस होता है लेकिन ज्यादातर लोग फिल्म देखना पसंद करते हैं। कुछ लोग बाहर खाना, किसी को खेलना, किसी को गाने सुनना, किसी को पढ़ाई करना, किसी को ऑफिस में काम करना, किसी को दूसरे की मदद करना और किसी को हंसाना अच्छा लगता है ।

यह भी पढ़े: आप बहुत अच्छे हैं – क्या आपको ऐसा किसी ने कहा है?

इसमें यह जो बात है कि अच्छा लगता है वह हमारा उसके प्रति इंटरेस्ट है यानी कि हमें जैसे कि खाना अच्छा लगता है तो खाने के प्रति हमारा इंटरेस्ट है हमें उस में रुचि है। हमें पसंद है ठीक वैसे ही जो हमारे लिए जरूरी है। उसके प्रति रुचि रखनी है। यह नहीं सोचना है कि मुझे तो पसंद नहीं है।

अगर हम अभी से रूचि रखना शुरू करेंगे तो कुछ समय बाद हमें इंटरेस्ट आता जाएगा रुचि आती जाएगी। तुरंत तो इंटरेस्ट नहीं आएगा। जैसे कोई न्यू जॉब स्टार्ट करता है तो शुरू में सब नए-नए व्यक्ति होते हैं। और जैसे जैसे हम रेगुलर होते जाते हैं वैसे धीरे-धीरे सब अच्छे लगने लगते हैं फिर खुशी से जॉब जाने लगते हैं।

• आलस करने से क्या होता है?

सबसे पहले तो आलस करना ही नहीं चाहिए। फिर भी आलस करते हैं तो हमें खुद का ही नुकसान कर रहे हैं। आलस अर्थात समय लेकर काम करना जैसे कि लोग अक्सर यह बोलते हैं कि मैं बाद में करता हूं, कल करता हूं, अभी तो बहुत समय है, बाद में कर लूंगा यह सब आलसी पने की निशानी है।

• शरीर में आलस्य के कारण

आलस के कारण तो बहुत सारे हैं लेकिन उसमें से जो मुख्य हैं हम उनके बारे में बात करते हैं। हर किसी का अपना एक स्वभाव होता है। लेकिन खास करके जो मुख्य वह है नींद। कुछ लोगों को पूरी नींद ना मिलने के कारण भी आलस आता है और वह बहुत आलसी हो जाता है।

यह भी पढ़े: अपने आप पर विश्वास जीवन में बहुत जरुरी है

आलस को रोकने के लिए शुरू से ही मेहनत की जाए तो शायद आलस कैसे दूर करें वह सवाल खड़ा ही नहीं होता। आलस को रोकने के लिए बचपन से ही अच्छी आदतों का हमारे अंदर समावेश करना होता है।

जैसे कि सुबह जल्दी उठना, लोगों की मदद करना, खुद के काम खुद करना आदि। मुख्य हमारे लक्ष्य को पाने के लिए दिन रात एक कर के खूब मेहनत करना यह सब अगर बचपन से संस्कार हमारे अंदर डाल दिया जाए तो बाद में परेशानी बहुत कम होती है।

• आलस से होने वाले पांच मुख्य कारण

  1. आलस की वजह से इंसान की इमेज पर असर पड़ता है।
  2. आलस चाहिए आलसी इंसान का टैग लग जाता है।
  3. आलस करने से शरीर की सिस्टम पर भी प्रभाव पड़ता है।
  4. आलस शरीर के अंदर बीमारियों को प्रवेश करने का मुख्य द्वार है।
  5. सबकी नजरों में हम बहुत बुरे लगते हैं।

आलस से हमारे घर में दरिद्रता आना शुरू हो जाती है। जो सबके लिए अच्छी बात नहीं है। दरिद्रता आना यानी कि घर में खराब दिन आना शुरू। जैसे पैसों की कमी स्वास्थ्य ठीक ना रहना आदि।

घर में एक बार दरिद्रता आ जाती है तो उस से होने वाले नुकसान किसी एक व्यक्ति को नहीं बल्कि घर के सारे व्यक्ति को भुगतना पड़ता है। अभी के समय की ही बात ले लो, कोरोना की बीमारी है जो चल रही है। अगर किसी ने लापरवाही कर दी सबको तो अलग अलग रहना, खाना-पीना सब अलग कर दिया जाता है। उसको देखने का जरिया भी बदल जाता है सबके लिए। सब उसको पहले जैसे रिस्पेक्ट नहीं देते है।

घर में आलस करने वाले व्यक्ति को सारे काम सोच समझकर करनी चाहिए ताकि किसी और को इस नुकसान का भुगतान करना ना पड़े।

जैसे कि आपने ऊपर पढ़ा होगा कि आलस और सुस्ती हमारे शरीर के लिए अच्छी बात नहीं है तो इससे हमें दूर ही रहना चाहिए।

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap