जीवन में आत्मविश्वास का महत्व – Self Confidence Importance in Hindi

जीवन में हर चीज का अपना ही महत्व होता है जिसमें आत्मविश्वास भी बहुत महत्वपूर्ण है। जब भी हम किसी कार्य को करने में हम सफल नहीं होते तो हम हम हमारी असफलता का कारण किसी और को ठहराते हैं जो कि बिल्कुल गलत बात है।

जब हमें जीवन में आत्म विश्वास का महत्व पता चल जाएगा तब हमें असफलता मिलने के मूल कारण तक पहुंचने की शक्ति भी मिल जाएगी।

अगर हमारे जीवन में आत्मा विश्वास नहीं होता है तो उसके साथ-साथ बहुत बुराइयां भी जन्म लेती हैं। जैसे कि ईर्ष्या, दुख, क्रोध आदि।

जीवन मे आत्माविश्वास एक ऐसी पूंजी है जो ज्यादा हो तो भी मुश्किल कम हो तो भी मुश्किल।

आत्मा विश्वास क्या है

आत्मविश्वास क्या है? आप आत्मविश्वास के बारे में जानते क्या जानते हैं?

आत्मा का मतलब होता है आप स्वयं और विश्वास का मतलब निश्चय ।

आत्मविश्वास मन और बुद्धि से मिलकर बना है। जब बुद्धि को एकाग्र करते है तब आत्मविश्वास बनता है।

आत्मविश्वास यानी कि अगर आपको कोई निर्णय या काम करने को बोला जाए तो आप उसको सोच समझ कर जवाब दें।

उसके बाद भी आपको पूरा विश्वास हो कि मैं, यह काम कर ही सकता हूं चाहे कोई भी हालात हो। इस विश्वास को ही आत्मविश्वास कहते हैं।

संसार में जब कठिन परिस्थितियों के समय किसी भी बात का जब निर्णय लेना हो तो गुस्से में आकर के निर्णय ले लेते हैं उसको सोच समझकर निर्णय नहीं लेते हैं अगर हम सोच समझकर निर्णय लेंगे तो हमारे जीवन में आत्मविश्वास और मजबूत होगा।

हम सोचते हैं कि हम दूसरे से शक्तिशाली हैं तो हम जीत जाएंगे । यह आत्मविश्वास नहीं यह तो अहंकार हुआ।

जीवन मे आत्मविश्वास का मतलब यह है कि आप अपने आप पर भरोसा करें, खुद पर भरोसा करें खुद को जाने कि आप कौन सा कार्य किस तरह कर सकते हैं।

आत्मविश्वास की कमी क्यों?

जीवन में आत्मविश्वास की कमी क्यों होती है? हम खुद पर विश्वास क्यों नहीं कर पाते?

इसका मूल कारण है कि हम दूसरों की सुनते हैं। हमारे दिल की हमारे दिमाग की हम नहीं सुनते।

जो हमारा दिल कहता है वह हमेशा सही होता है। एक या दो बार हमें किसी और की बात सुन लेते है तो हमारा मन फिर वही कहता पिछली बार उसकी बात सुनी थी तो बहुत अच्छा हुआ था।

उसने जो कहा था वह सही कहा था उसकी बात सही साबित हुई थी। तो क्यों ना इस बार भी उसकी बात सुनी जाए।

ऐसे ऐसे करके इंसान को दूसरे की निर्णय को स्वीकार करने की आदत बन जाती है और फिर उसी गलती की वजह से वह खुद की ओर आत्मा विश्वास की कमी महसूस करता है। जीवन के हर एक पल में आत्मविश्वास की कमी उसको महसूस होती रहती है।

आज के बिजी समय में हम खुद को समय कहां दे पाते हैं हमें तो बस सारा काम तैयार मिलना चाहिए तभी हम आगे बढ़ते हैं। उसके कारण हमारे जीवन में आत्मविश्वास की कमी पैदा होती है।

आज कल की दुनिया में पैसा कमाना ही सबसे महत्वपूर्ण बात बन गई है चाहे हम वह कैसे भी कमाए।

कोई भी कार्य करने से पहले इंसान अपने बारे में नहीं सोचता। कि मुझे क्या चाहिए मैं क्या चाहता हूं या चाहती हूं इससे मेरा फायदा है या नुकसान यह कार्य में कर सकता हूं या नही।

इन सब बातों की वजह से भी हमारे जीवन में इसकी की कमी बढ़ती जाती है।

जीवन में आत्मविश्वास पाना क्यों जरूरी है?आप इस से क्या समझते हैं?

हर जगह जो कार्य हम करते हैं वहां आत्मविश्वास जरूरी हैं। आत्मविश्वास भी सफलता की चाबी को प्राप्त करने में बहुत मदद रूप होता है।

पहले के समय में सब लोगो मे आत्मविश्वास बहुत होता था। क्योंकि वह अपने आप को समय देते थे। अगर हम भी खुद को समय दे, खुद की सोच को, विचार को समझें और परिस्थितियों को भी समझे तो हमारे अंदर आत्मविश्वास धीरे-धीरे बढ़ता है। धीरे-धीरे सब कार्य आसान लगने लग जाते हैं।

आत्मविश्वास का मतलब यह नहीं है कि दूसरे से मुझ में ज्यादा शक्ति होना। कभी यह नहीं सोचना है कि वह मेरे से कमजोर है और मैं शक्तिशाली हूं तो मैं जीत जाऊंगा।

आत्मविश्वास का मतलब है खुद को जानना। यह नहीं कि मुझे इस बात का ज्ञान तो पहले से ही है।

जीवन मे आत्मविश्वास की कमी दूर करने के लिए प्रथम खुद को जानना जरूरी है।

जीवन में आत्मविश्वास क्यों जरूरी है?

जीवन में हर एक बात का अपना ही स्वरूप है। जीवन में इसका का अपना ही एक हिस्सा है ।

जीवन में यह बहुत जरूरी है क्योंकि जीवन में ऐसी बहुत सी परिस्थितियां आती है जिसमें हमें सकारात्मक मनोबल और खुद सकारात्मक रह करके सारी परिस्थितियों का सामना करना होता है।

कोई भी कार्य से कभी भी पीछे नहीं हटना है ना ही उस से डरना है। सही निर्णय लेना होता है। जिससे हम और हमारे परिवार में सब अच्छे से रहे किसी को कोई तकलीफ ना हो।

लेकिन हां आत्मा विश्वास हमें कई बार बहुत नुकसान भी दे सकता है बहुत बार शायद आपने भी देखा होगा कि जरूरत से ज्यादा आत्मविश्वास हमें अहंकार की ओर ले जाता है।

अहंकार हमारे सर्वनाश का मूल कारण भी बन सकता है।

इसलिए जीवन में आत्मविश्वास बहुत जरूरी है लेकिन अहंकार से दूर रहे। अहंकार से सिर्फ हमारा नुकसान ही होता है खुशी शायद ही मिलती है। हमेशा दुख और नेगेटिव बातें ही मिलती है।

इसलिए जीवन के हर मोड़ पर हर पुस्तकों सोचे समझे और अपने आपके आत्मविश्वास को कभी लाचार ना होने दें। और अगर हम लाचार हो गए तो मैं पूरी दुनिया कहेगी कि देखो इनको सही गलत का पता ही नहीं है। इनको खुद पर ही आत्मविश्वास नहीं है तो यह क्या हमारा भला करेंगे?

जीवन में आत्मविश्वास एक ऐसी चाबी है जिसे आप खुद ही खुद को समय देकर के प्राप्त कर सकते हो। इन सब चीज से पहले खुद पर विश्वास करना सीखें। यह सीखे कि हां मैं यह बिल्कुल कर सकता हूं। मैं यह क्यों नहीं कर सकता।

अगर हम इस तरह से जीवन में चलते रहे तो हमें जीवन में इसकी कमी बिल्कुल भी महसूस नहीं होगी।

आशा करता हूं कि मेरे द्वारा दी गई नॉलेज यानी कि जीवन में आत्मविश्वास का महत्व या आत्मविश्वास की परिभाषा आपको समझ में आई होगी। आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो आप अपने दोस्त और रिश्तेदारों से शेयर करें। अगर कोई सुझाव हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap