बुरे समय में खुद खुश कैसे रहें – bure samay khush kaise rahen

0
404
बुरे समय में खुद खुश कैसे रहें

वित्तीय समस्याओं को कैसे संभाले?

अपने बुरे समय अथवा अपनी समस्या का निवारण ढूंढने के लिए आज का हर इंसान दौड़ रहा है। हर एक इंसान कोई ना कोई तकलीफ से लड़ रहा है। हर एक की अपनी समस्या है। उसी के निवारण के लिए इधर-उधर भागता रहता है।

जिस इंसान के पास पैसे होते है एक सुखी जीवन जी सकता है। पर अगर पैसे ना हो तो बुरे समय के सामने लड़ना पड़ता है और बहुत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है पर क्या करें खराब समय में भी जीवन तो जीना ही है।

देखा जाए तो बुरे समय में बहुत लोग की असलियत के बारे में हमें पता चलता है यानी कि तब दूसरों के सहारे की जरूरत पड़ती है। जब दूसरों का सहारा लेने किसी की मदद मांगने जाते हैं तब कोई मदद करता है और कोई मदद नहीं करता है। जब कोई हमारी मदद करता है तब हम यह मान सकते हैं कि वह हम से वास्तविक रूप में प्रेम करता है। पर कुछ लोग किसी कारण या किसी वजह से हमारी मदद नहीं करते है, लेकिन कुछ लोगों ऐसे होते हैं जो मदद कर सकते हैं फिर भी वह हमारी तो क्या किसी की भी मदद नहीं करते है, पता नहीं वह ऐसा क्यों करते हैं?

क्या आपके जीवन में भी कोई हे ऐसा? कॉमेंट कर के है या ना में जरूर बताये।

मेरा मानना तो यह है हमसे कोई मदद मांगने आए और अगर हम मदद कर सकते तो हमे जरूर मदद करनी चाहिए।

बुरे समय में मदद करना बहुत अच्छी बात है। कुछ लोग हमारी मदद की रिटर्न देने के लिए भी बहुत उत्सुक होते हैं।

कहते हैं कि बुरा समय ही अपने और अनजाने लोगों की पहचान कराता है। जिससे हमें भी समझना आसान होगा कि आगे से उनकी मदद करें या नहीं।

मेरे मुताबिक तो एक दूसरे की मदद करना ही सच्ची इंसानियत है। अगर हम किसी की मदद करेंगे तो कोई और भी हमारी मदद करेगा। और सबसे बड़ा प्लस पॉइंट है की बुरे समय में किसी की मदद करने से भगवान भी खुश होते हैं।

ये भी पढ़े – जीवन में खुश कैसे रहे – Khush kaise rahe

कैसे सदा हस्ते रहे?

खराब समय में भी सदा हंसते रहना भी एक इंटरेस्टिंग बात है। जीवन में जब हमारी परीक्षा होती है तब वह समय हमारे परीक्षा का समय या फिर बुरा समय हो सकता है। यह समय को हंसते हुए पार करना होता है। वो कैसे करेंगे?

इसके बारे में हम कुछ पॉइंट आपको नीचे दिए गए हैं उन पॉइंट को आप ध्यान में रखकर बुरे समय को भी बता सकते हो।

स्वीकार करना – परीक्षा के समय को या फिर बुरे समय को

सदा सकारात्मक रहना किसी के लिए भी नेगेटिव विचार माइंड भी ना आए

कोई भी क्षण परमानेंट नहीं है यह समय भी जरूर बदलेगा

जाने अनजाने में किसी को दुख ना देना

अच्छे लोगों के संपर्क में रहना

बीते हुए बुरे समय को याद बिल्कुल भी नहीं करना है

जीवन में कुछ आदते ऐसी होती है जिससे हमें दुख तो होता है परंतु उससे हमें फायदे भी मिलते हैं।

यह सच है कि जो आदत हमें दुख ही देती है वह हमें बाद में सुख भी देती है।

दुख के समय को जितना हो सके उतना इग्नोर करें तो ही हमारे लिए अच्छा है। वह हर बार सिर्फ दुख देता है। दुख के समय में भी हंसते रहने के लिए गुजरे हुए सुख के पलों को याद करो। शायद सुख के पलों को याद करके हमारे चेहरे पर एक मुस्कुराहट आ जाए और दुख की फीलिंग भी हम भूल जाए। यह भी एक अमेजिंग मोमेंट्स है।

परिश्रमी बनो

बुरे समय में खुद खुश कैसे रहें

मेहनत करने का समय अगर खोजा जाए तो नहीं मिलेगा और मेहनत करे बिना सुख भी नहीं मिलेगा। किसी भी सफल इंसान से हम अगर पूछेंगे तो उनकी सफलता की स्टोरी सुनकर भी आप यह महसूस करेंगे कि सब ने अपने जीवन में कड़ी मेहनत की है। शॉर्टकट भी यह है कि सिर्फ मेहनत।

महेनत ही नहीं दिल लगाकर और इमानदार से मेहनत करनी है। जब सफलता मिलेगी तो पूरी दुनिया आपके सामने देखती रह जाएगी।

खूब मेहनत करें और सब के प्रति शुभ भावना रखें उसके बाद खुद आप महसूस करोगे की सफलता आपके कदमों में है।

कोई इंसान एक बार जब हार जाता है तो दूसरी बार मेहनत करने की कोशिश भी नहीं करते हैं। ऐसे लोगों को मोटिवेट करना बहुत बड़ी बात लगती है। दिमाग में वह चीज फिक्स हो चुकी होती है कि अब कुछ भी नहीं हो सकता है।

परंतु ऐसा नहीं है कि कोशिश करनी ही चाहिए, कोशिश तो लगातार करनी चाहिए 1 दिन सफलता आपको जरूर मिलेगी।

अगर आपने चींटी को देखा होगा तो चींटी बार-बार दीवार के ऊपर चढ़ने की कोशिश करती है पर वह बार-बार गिर जाती है। वह फिर भी हार नहीं मानती। वह फिर से दीवार के ऊपर चढ़ने की कोशिश करती है फिर गिर जाती है। आखिर वह कड़ी मेहनत करके दीवार के ऊपर पहुंच ही जाती है। इसका कारण है कि वह सिर्फ मेहनत में विश्वास रखती है और मेहनत से सफलता जरूर मिलती है।

ये भी पढ़े – Best Happy Mothers Day Wishes & Images

सोच बदलो

khush kaise rahen

अब ऐसा तो बिल्कुल भी नहीं है कि जो लोग जीवन में कुछ पाते हैं किया वह जो लोग सक्सेस होते हैं उनकी जीवन में कभी समस्या नहीं आती होगी या नहीं आई होगी। समस्या तो हर एक के जीवन में आती है लेकिन फर्क इतना होता है कि वह समस्या को अलग नजरिए से देखते हैं। फर्क होता है उनके सोचने का। वह लोग अपनी समस्या को और पोस्ट अपॉर्चुनिटी में बदल देते हैं और उस पर किसी तरह से मेहनत करके आगे बढ़ते रहते हैं उस पर डिप्ली विचार करते रहते हैं।

सोचो अगर आप भी अपने बुरे समय में अपना सोचने का तरीका और देखने का नजरिया बदल दे तो आपके जीवन में भी कितना बदलाव आ सकता है।

कुछ समस्या तो ऐसी होती है जो समस्या के आने पर ही हमें कुछ नया करने के लिए मजबूर कर देती है। जैसे किसी को अच्छी सैलरी वाली जॉब से निकाल दिया जाता है तो उसको बहुत दुख होता है। पर देखा जाए तो वह इस दुख को सुख में बदल सकता है।

अब आप कहेंगे वह कैसे हो सकता है?

अगर किसी ने हमें जोब से निकाल दिया है तो हमारे पैसे कमाने की सिस्टम तो बंद हो गई, हमारे पैसे कमाने का जरिया तो बंद हो गया है। अब हम घर पर ही बैठे रहेंगे।

हमें यहां पर अपने दुख को सुख में कन्वर्ट करना है। कैसे करते ? मान लो अगर हम घर पर ही है तो हम क्यों ना हम घर पर बैठकर कोई बिजनेस शुरू कर ले, जिससे हम पैसे भी कमा सकते हैं और हमारे घर का खर्चा भी निकाल सकते हैं। कहने का मतलब यही है कि दुख अगर आता है तो उसका एक सलूशन भी होता है।

अब हमें घर बैठ के कोई बिजनेस करने की जरूरत है। जिससे हम पैसे कमा सकते हैं। सोचो अगर आज के जो भी बड़े-बड़े और सफल बिजनेसमैन अगर जॉब करते तो क्या इतनी सफलता को पा सकते थे? बिल्कुल भी नहीं। उन्होंने भी दुख को सुख में बदलकर सफलता को प्राप्त किया है।

तू इसी से हमें पता चलता है कि जब भी हमारे जीवन में समस्या आती है तो उसी के साथ उसका सलूशन भी जन्म लेता है। यहां पर कहने का मतलब है कि अगर आपके दिल में समस्या नहीं होगी तो आप नहीं मंजिल और नई सफलता के दरवाजे तक कभी नहीं पहुंच सकते हैं। समस्या को आने दो ओर सोच को बदल के दुख को सुख में बदल दो फिर जीवन जियो देखो कितना मजा आता है।

बुरे समय में ही जीवन का सच्चा रास्ता मिलता है

खुश कैसे रहें

जीवन में अगर बुरा समय ना होता तो हमें सही रास्ता ना मिलता। आज के जो भी सक्सेसफुल पर्सन और ऑर्गनाइजेशन है उन सब के लिए यही स्ट्रेटजी काम करती है।

हर गलत समय में एक सही एक सही रास्ता दिखाता है। क्योंकि हम अगर एक ही रास्ते में चलते जाएंगे तो नया कुछ करने की सोचेंगे भी नहीं। बुरे समय आते ही सब उसको भगाने की खोज में लग जाते हैं।

इस दुनिया में बहुत से लोग ऐसे हैं जो उनकी लाइफस्टाइल को बदलने के लिए तैयार नहीं है। वह सिर्फ वही आदतों के आदि बनकर जीवन जीते है। लेकिन फिर हमारे पास कोई बुरा समय या कोई समस्या आती है तो मजबूरी के कारण हम आदत को बदल देते हैं या उसे छोड़ देते हैं। वही समस्या हमें जबरदस्ती मजबूर करती है कि हम सही रास्ते का उपयोग करके जीवन में कुछ नया करें।

एक आदत के बारे में बात करते हैं।

ये भी पढ़े – More Positive Energy Is Change our Lives

जैसे कि कोई इंसान दिनभर ऑफिस में काम करता है और रात को आकर खाना खाकर सो जाता है। बस वह अपने जीवन में इतना ही करता है उससे आगे वह सोचता भी नहीं है पर जब उसे किसी कारण की वजह से ऑफिस में छुट्टी करनी पड़े तो भी वह नहीं करता है और किसी के घर में शादी या बर्थडे फंक्शन में नहीं जाता है।

लेकिन जब किसी दिन खुद के किसी फैमिली मेंबर के जन्मदिन आता है तब उसके खुद के घर में बाहर का एक भी इंसान नहीं आता है तो, वह देखकर उसे बहुत दुख होता है। फिर उसे अपनी गलती का एहसास होता है कि समय के साथ चलना जरूरी है। नहीं तो हम समाज में अकेले ही जीवन जीते रह जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here