जब मन उदास हो तो क्या करें – Jab man udaas ho to kya karen

आजकल मन उदास होना यह कुछ ज्यादा बड़ी बात नहीं है बहुत से लोगों को कोई भी छोटी-छोटी बातें मन उदास हो जाता है और वही अपना खराब मोड़ लेकर इधर-उधर घूमते रहते और सब से मिलते रहते हैं।

कुछ लोग तो मन उदास हो तो कभी किसी से अच्छे से बात भी नहीं करते हैं और यह सोचते रहते कि मुझे कुछ भी अच्छा नहीं लगता अब मैं क्या करूं? आज मेरा मन बहुत उदास है मैं क्या करूं?

इसी बात को हम थोड़ा विस्तार से समझते हैं मुख्य 6 बिंदुओं के साथ जो आपको उदासीनता को दूर करने में मदद करेगी और आपके मूड को काफी खुशहाल बना देगी।

1.अच्छे पलों को याद करें

जब भी कभी आपका मन उदास हो या फिर कभी किसी ने कुछ कह दिया हो गुस्से में आकर के आगे हमारी गलती की वजह से तो हमें बुरा लगता है और बुरा होने की वजह से कई बार हमारा मन भी उदास हो जाता है तो हमें याद करना चाहिए।

ऐसे समय में हमें हमारे अच्छे पलों को याद करना चाहिए जैसे कि अगर हम कहीं घूमने गए हैं तो हमने वहां पर कोई अच्छी सी फोटो खींची थी तो उस फोटो को देख कर उन पलों को याद करना चाहिए।

ऐसे समय में हमें कहीं घूमने गए थे उसकी कोई वीडियो है या फिर किसी को ऐसी घटना है जो हमें बहुत अच्छी तरीके से याद है और हमें उस समय बहुत मजा आया था तो उसी घटना को फिर से याद करके हमें अपने मूड को ठीक करने की कोशिश करनी चाहिए, हमारे मन को ठीक करने की कोशिश करनी चाहिए।

आजकल के सब लोग कहीं ना कहीं थोड़े दिनों के बाद घूमने जाते ही रहते हैं। तो ऐसा कुछ होना ही चाहिए कि आपकी कोई यादगार फोटोस या वीडियोस मोबाइल में ना हो। आजकल तो सबके पास अत्यंत आधुनिक टेक्नोलॉजी से जुड़े हुए बहुत अच्छे-अच्छे मोबाइल फोन है।

2.फनी जोक को याद

जोक सुनना है तो सब को अच्छा लगता है क्योंकि इस जोक संतोष संतोष जो हंसी आती है वह हंसी हंसते हंसते किसी को कुछ पता नहीं चलता कि वह कैसे रहे हैं।

जोक सुनने के बाद बस इतना पता होता है कि हमें हंसी आती है और वह भी ऐसी ऐसी जो हम सारे दुख दर्द भुला कर हंसते हैं और वह हंसी सबको अच्छी लगती है

इस दुनिया में एकमात्र एक ही ऐसी चीज है जो कुछ ही समय में किसी भी इंसान को होश आ सकती है और वह है जोक्स।

आप जोक्स के बिना की दुनिया को सिर्फ इमेजिन करो आपको बहुत अजीब सा लगेगा। सिर्फ यह इमेजिन करो कि दुनिया में सब्जी रहे लेकिन किसी के चेहरे पर हंसी नहीं है तो भी आपको अजीब सा लगेगा।

आजकल सब के पास अपनी अपनी टेंशन है फिर भी सब लोग अपनी जिंदगी जी रहे हैं किसी ना किसी तरह से। तो जब भी आपके दिल और दिमाग में उदासी छाई हो तो आप तो इंटरनेट से कोई भी फनी जोक्स को सर्च करके सुन सकते हो या पढ़ सकते हो उससे अब काम मन काफी अच्छा महसूस करेगा।

3.मनपसंद गाना सुनाओ

आजकल की लोगों को गाना सुनना तो पसंद है लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं जिनको गाना सुनना बेहद पसंद है चाहे किसी भी परिस्थिति में हो चाहे कितनी भी बड़ी समस्या हो अगर उनको उस माहौल में गाना सुनने को मिल जाए तो वह उनको बहुत अच्छा लगता है।

क्योंकि गाने में ऐसी वाइब्रेशन से जो हमारे दिमाग और दिल में इतनी असर करते हैं कि हमारा मूड तो क्या हम पूरे गाने की धुन के साथ उछल कूद करने लग जाते हैं और इसी धुन के साथ उछल कूद करते हुए हम अपने मन की उदासी को भी भूल जाते हैं। गाना तो आजकल सबको पसंद है क्योंकि बिना गाए हुए बिना म्यूजिक के जिंदगी नहीं होती।

गाने के साथ साथ कुछ लोगों को मूवी देखने का भी शौक होता है तो अगर मन ज्यादा उदास हो तो हमें हमारी पसंदीदा मूवी देख ली नहीं चाहिए जिससे हमारा मन हल्का हो जाए और हमें अच्छा महसूस हो सके।

4. गार्डन में घूमने जाए

मन उदास होने पर हम गार्डन में भी घूमने जा सकते हैं और वह भी कान में गाना लगा कर के। गार्डन में घूमने जाने से मन तो मन की उदासीनता दूर होती है लेकिन उसके साथ-साथ हमारे शरीर को भी फ्रेशनेस मिलती है।

गार्डन में जो हरियाली होती है उसको देख कर भी हमारे मन के ऊपर बहुत अच्छा असर पड़ता है हमारे मन की जो उदासीनता होती है वह उस गार्डन के हर एक कार को देखकर उसको पॉजिटिव सीलिंग्स में बदल देती है ताकि हमारा मन जो उदासीनता से भरा पड़ा है वह खाली हो जाता है और हम अच्छा महसूस करते हैं।

आपको भी पता होगा कि बहुत से लोग सुबह सुबह गार्डन में योगा और कसरत के लिए भी जाते हैं तो गार्डन का यह एक बहुत अच्छा फायदा है कि उससे हमारे शरीर को पॉजिटिव बैनर्जी भी मिलती है।

5. फैमिली से बात करें

कई बार मन उदास होता है ना तो बहुत से लोग अपने किसी रिश्तेदार से बात कर लेते हैं जैसे कि हमारी चाचा, चाची, फूफा जी। ऐसे कोई भी हमारे इस तरह के हमारे भाई बहन भी हो सकते हैं।

खास करके हमारे बहन बहन के साथ हमें बात करके ज्यादा अच्छा लगता है हमारे मन की उदासीनता का पता ही नहीं चलता है क्योंकि जब भी भाई बहन बात करते हैं तो वह अपनी बचपन की बात को लेकर बैठ जाते हैं और वही बातें याद करते हैं कि मैं छोटा था तो ऐसा करता था मैं छोटी थी तो ऐसा करती थी।

और धीरे-धीरे इन्हीं बातों में इतना समय निकल जाता है कि हमें पता ही नहीं होता कि हमारा मन उदास था और हम अपने मन को ठीक करने के लिए इनको फोन मिलाया था पर हमें फोन पर बात करके इतना अच्छा लगता है कि हम क्या बताएं।

हमारे जीवन में हमारे लिए हमारा पूरा परिवार बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि अगर हम परिवार के साथ नहीं रहते हैं तो हमने और जंगल के जानवर में कोई फर्क नहीं रहता है जैसे कि जंगल में जानवर अकेले रहते हैं उनको किसी के साथ की जरूरत नहीं सिर्फ इंसानियत से जिनको किसी का साथ और सरकार की जरूरत होती है क्योंकि ऐसा इस दुनिया में कोई आदमी है जो अकेला आया है और अकेला जी सकता है।

6.पसंदीदा किताबें पढ़ें

हम सब की पसंदीदा किताब अलग होती है कुछ लोग तो उसको अपने पास ही रखते हैं अपने बैग में। क्योंकि वह किताब हमें बहुत अच्छी लगती है और वह किताब में जो लिखा होता है वह पढ़ने में हमें अंदर से मजा आता है।

ऐसा नहीं है कि सब किताब पढ़ने से मजा आता है लेकिन कुछ किताबें ऐसी होती है जिसको पढ़ने से हमारा जनरल नॉलेज बढ़ता है और कहीं भी कोई भी बात होती है या कुछ सवाल उठता है तो अगर हमें उसका आंसर पता होता है तो हम उसका आंसर दे सकते हैं।

किताब भी बहुत अलग अलग तरीके होती है कैसी की मोटिवेशनल स्टोरी हेल्थ रिलेटेड ऐसी बहुत सारी अलग-अलग किताब होती है जो जिसको जैसी पसंद हो वह उसी हिसाब से उसको खरीदता है और पढ़ाई करता है।

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap